मेडिक्लेम और कैशलेस सुविधा उपलब्ध

अपॉइंटमेंट के लिए कॉल करें +91-8156078064+91-8469327630

क्लिनिक से वापस कॉल पाने के लिए बिनती

    CHOOSE LANGUAGE

     

    सर्जरी के अनुमानित खर्च जानने के लिए हमें कॉल करें

    मेडिक्लेम और कैशलेस सुविधा उपलब्ध

    video information

    गोद। पित्ताशय की पथरी की सर्जरी

    दर्दीओं के अनुभव

    इलाज

    सर्जरी की ज़रूरत क्युँ पड़ती है ?

    पित्ताशय की पथरी की सर्जरी का मुख्य लक्ष्य ऐसी समस्याओ /लक्षणों का इलाज करना है, जो आप पथरी की वजह से सेह रहे है। इसके आलावा पथरीसे उत्पन्न होती कई जटिलताएं / समस्याएँ पैदा न हो, उसके लिए भी सर्जरी जरुरी है। इन जटिलताओं में से कुछ जानलेवा भी साबित हो सकती है। इनके बारे में आप इसी पेज पर आगे पढ़ सकते है।

    तकलीफ ना देने वाली पित्ताशय की पथरी

    सामान्य तौर पे ऐसे मरीज़ो को सिर्फ फॉलो अप पे निगरानी में रखा जाता है। सिर्फ ज्यादा जोखिम वाले दर्दीओ (जिनको पथरी से जुडी जटिलताएं होने की संभावना ज्यादा हो) को ही सर्जरी की सलाह दी जाती है। ऐसे ज्यादा जोखिम वाले दर्दीओ में डायाबिटीस, कीमोथेरपी का इलाज लेते दर्दी और रोगप्रतिकारकता से वंचित (जैसे HIV ग्रस्त) दर्दी का समावेश होता है।

    तकलीफ देने वाली पित्ताशय की पथरी

  • जिनको पित्ताशय की पथरीसे तकलीफ होती हो, वैसे दर्दीओ को सर्जरी के लिए एक्सपर्ट सर्जन की सलाह लेनी चाहिए। ऐसे मरीजों के लिए लैप्रोस्कोपिक (दुर्बिन से होने वाली ) पित्ताशय की सर्जरी दुनिया भर मे स्वीकृत इलाज है।
  • पथरी पिघलाने का इलाज पित्ताशय की पथरी के लिए कारगर नहीं रेहता और उसके परिणाम आधारभूत नही है । ये तकलीफ से पीड़ित दर्दीओ में, मूल समस्या खुद पित्ताशय मे और शरीर के मेटाबोलिज़म मे होता है। और इसलिए सर्जरी मे सिर्फ पथरी नही निकाली जाती। हमे पूरा पित्ताशय निकालना पड़ता है। अगर सिर्फ पथरी निकाल कर पित्ताशय को वहीं छोड़ा जाये, तो पथरी फिर से बन जाती है।
  • गलत अनुमान: पित्ताशय की सर्जरी से पाचन प्रभावित होता है

    सामान्य मान्यता से विपरीत, पित्ताशय निकालने के बाद, पाचनमें कोई बदलाव नही आता। ऑपरेशन के बाद आपके आहारमें कोइ विशिष्ट अंकुश की ज़रूरत नही होती। आपको एक साथ ज्यादा मात्रा में खाने के बजाय, कम मात्रामे ज्यादा बार खाना चाहिए। आपको बेहद चर्बियुक्त,तीखा और तलेहुए खुराक, हो सके उतना कम खाने चाहिए। ये सभी आदर्श आहार सम्बंधित सलाह, हम सबको अपने सम्पूर्ण स्वास्थ्य को सुधारने के लिए अपने जीवन में उतारने चाहिए। सर्जरी के बाद आप सबकुछ उचित मात्रा में खा सकते है।

    पित्ताशय की पथरी की सर्जरी के लिए एड्रोइट ही क्यों ?

    लेप्रोस्कोपिक सर्जरी न्यूनतम चीरे (छेद )से होनेवाली सर्जरीकी पद्धति है। इसमें पेटकी दिवारमे एक से अधिक छोटे छेदसे छोटी छोटी नलीओ को अन्दर उतरा जाता है। ये नलीओ द्वारा ऑपरेशन के जरुरी दूरबीन और साधन पेट में डेल जाते है।

    ओपन सर्जरी के मुकाबले लैप्रोस्कोपिक सर्जरी के लाभ :

    • अत्याधिक अनुभवी सर्जन
    • नवीनतम टेक्नोलोजी का उपयोग/लेप्रोस्कोपिक सर्जरी
    • ऑपरेशन के बाद कम दर्द
    • तेजी से रिकवरी और सर्जरी के पहले जैसी कार्यक्षमता की जल्द ही पुनःप्राप्ति
    • इंफेक्शन की संभावना कम
    • बेहतर कॉस्मेटिक परिणाम
    • इनसीज़नल हर्निया की संभावना कम

    हमारे बारे मे

    एड्रोइट की शुरुआत एक व्यापक,अत्याधुनिक upper GI सेन्टर की जिसमें, विभिन्न प्रकार की पाचन समस्याओं के लिए उचित मूल्यांकन, के साथ हर मरीज की जरूरत के मुताबित अनुकूलित उपचार के लिए सभी सुविधाएँ उपलब्ध कराने का विकल्प प्रदान करने के उद्देश्य से की गई थी। परिणामस्वरूप, हम दीर्घकालिक और लगातार अच्छे परिणाम प्रदान करने में सक्षम हैं। एक अच्छी तरह से समन्वित टीम का उद्देश्य मरीजों और उनके रिश्तेदारों को सहानुभूतिपूर्ण दृष्टिकोण के साथ एक सहज अनुभव का प्रदान करना है। हमें यह जानकर बहुत खुशी और गर्व है कि हम भारत में पित्ताशय की पथरी, GERD/एसिड रिफ्लक्स, हायटस हर्निया, विभिन्न अन्य प्रकार के हर्निया और एकेलेसिया कार्डिया के इलाज के लिए सबसे अच्छे सेन्टर्स में से एक है। हम अत्याधिक संतुष्ट मरीजों की एक बड़ी संख्या के आधार पर यह दावा करने में सक्षम हैं, जो हमारे उपचार से श्रेष्ठ लंबे समय के परिणामों का मजा ले रहे है।

    समय
    • सोमवार से शनिवार : सुबह 10 से शाम 6 तक

    15 से ज्यादा सालो का बहुमूल्य अनुभव

    डॉ चिराग ठक्कर पित्ताशय की जटिल समस्याओ के इलाज का व्यापक अनुभव रखते है। उन्होंने लैप्रोस्कोपिक पद्धति से पित्ताशय के हजारो आपरेशन किये है। वे इसके अलावा दूसरी जटिल और अधतन लैप्रोस्कोपिक सर्जरी में भी माहिर है।

    पित्ताशय की पथरी से उत्पन्न होती कई जटिलताएं / समस्याएँ

    LATEST FROM

    THE BLOG

    डॉ चिराग ठक्कर के बारे मे दर्दीओ के अभिप्राय है

    Copyright @ 2023 All rights reserved. | Privacy Policy